राजस्थान में सीमेंट उद्योग (Cement Industry in Rajasthan) || Rajasthan Me Cement Udhog || SSC || IBPS || RPSC | Rclipse - Education Point

राजस्थान में सीमेंट उद्योग (Cement Industry in Rajasthan) || Rajasthan Me Cement Udhog || SSC || IBPS || RPSC



राजस्थान में सीमेंट उद्योग
(Cement Industry in Rajasthan)


राजस्थान में सीमेन्ट उद्योग का समुचित विकास हुआ है और भावी विकास की सम्भावना भी है, क्योंकि उसके लिए आवश्यक कच्चा माल चूने का पत्थर (लाइम स्टोन) यहाँ प्रचुरता में उपलब्ध है। एक टन सीमेन्ट तैयार करने में लगभग 1.6 टन चूने के पत्थर की आवश्यकता होती है। इसके अतिरिक्त जिप्सम भी यहाँ उपलब्ध है। कोयला अवश्य बाहर से आयात करना होता है। राज्य में प्रथम सीमेन्ट का कारखाना 1915 में लाखेरी (बूंदी) में स्थापित किया गया। वर्तमान में राज्य में सीमेन्ट की 12 बड़ी इकाइयाँ और अनेक लघु प्लाण्ट सक्रिय हैं। आँकड़ों के आधार पर राज्य में 115 लघु सीमेन्ट प्लाण्ट स्थापित किए गए जिनकी संयुक्त क्षमता 6 लाख टन है, किन्तु इनमें से अनेक अब बन्द हो चुके हैं। राज्य के सीमेन्ट कारखानों में सर्वाधिक क्षमता जे.के. सीमेन्ट (निम्बाहेड़ा) की तथा न्यूनतम श्री राम सीमेन्ट (कोटा) की है।

राज्य में सीमेन्ट निर्माण के प्रमुख कारखाने
  • ए.सी.सी.लि. लाखेरी (बूंदी) 1971 में स्थापित
  • जयपुर उद्योग, सवाई माधोपुर (बन्द पड़ा है।
  • बिड़ला सीमेन्ट वक्र्स लि. चित्तौड़गढ़।
  • चितौड़गढ़ सीमेन्ट वक्र्स लि. चित्तौड़गढ़ (चेतक छाप)
  • मंगलम सीमेन्ट, मोडक (कोटा) बिड़ला
  • श्री सीमेन्ट ब्यावर (श्रीछाप)
  • जे.के, सीमेन्ट लि (जे.के. छाप) (निम्बाहेड़ा)
  • स्ट्रा प्रोडक्ट्स बनास सिरोही)
  • श्रीराम सीमेन्ट, श्री रामनगर (कोटा)
  • बिड़ला व्हाइट सीमेन्ट, गोटन
  • हिन्दुस्तान सीमेन्ट, उदयपुर
  • राजश्री सीमेन्ट, खारिया, मीरापुर (नागौर)

राज्य में सीमेन्ट उत्पादन की स्थिति


सन् 1951 में राज्य में सीमेन्ट उत्पादन के दो कारखाने लाखेरी (बूंदी) व सवाई माधोपुर में थे जिनमें प्रतिवर्ष 25 लाख टन सीमेन्ट उत्पादन होता था। इनके बाद राज्य में अनेक सीमेन्ट उत्पादन कारखाने स्थापित हुए जिससे सन् 2000 में सीमेन्ट उत्पादन बढ़कर 92 लाख टन हो गया। राजस्थान खनिज विभाग तीन और जिलों में सीमेन्ट उत्पादन के 10 लाइम स्टोन ब्लॉक्स लगाने की तैयारी कर रहा है। इससे प्रदेश के सीमेन्ट उत्पादन में करीब 25 मिलियन टन की बढ़ोतरी हो जाएगी। अभी प्रदेश में सीमेन्ट उत्पादन के 15 प्लाण्ट लगे हुए हैं, जिनसे 43 मिलियन टन सीमेन्ट का उत्पादन हो रहा है। विभाग जैसलमेर में 6, चित्तौड़गढ़ और नागौर में 2-2 ब्लॉक्स खोलने की तैयारी कर रहा है।



Rclipse Education Point

This Website Is Developed By Rclipse.Com For The Students Which Who Want To Learn Something Online.